अमन – काव्य संग्रह,जब भी बात हो अमन की, उनको शायद पसन्द नहीं।

जब भी बात हो अमन की, उनको शायद पसन्द नहीं। आतंकवाद का माहौल रहे चाहते वो अमन नहीं। हम कदम बढ़ाते अमन का, और वो आतंकवाद का, देशद्रोही बातों को...

‘जीवन का मूल्य’ – काव्य संग्रह

'जीवन का मूल्य' जीवन का मूल्य उनसे पूछो,जिनको रहने को घर नहीं,खाने को अन्न नहीं,हम तो बहुत सम्पन्न है,...

कविता: देश की पुकार ,कौम-ए-हिन्द

देश की पुकार कूद जा ऐ मुनावर तू भी सरफ़रोशी की राह में, खुद को मुतला कर दे तू भी आज देश परस्ती की चाह में। जज़्बा-ऐ वतन को...

सोमनाथ मंदिर: टूट कर बिखर कर फिर भी जो चमकता रहा

धार्मिक मान्यताएं: सोमनाथ मंदिर श्लोक- शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय। श्री नीलकंठाय वृषभद्धजाय तस्मै शिव काराय नम: शिवाय:।।

पिता- जिसके बिना जीवन की परिकल्पना करना भी ग़लत होगा

"पिता" एक ऐसा शब्द है जिसके बिना जीवन की परिकल्पना करना भी ग़लत होगा या कह सकते उनके बिना जीवन ही कहाँ...

कविता: देश की पुकार ,कौम-ए-हिन्द

देश की पुकार कूद जा ऐ मुनावर तू भी सरफ़रोशी की राह में, खुद को मुतला कर दे तू भी आज देश परस्ती की चाह में। जज़्बा-ऐ वतन को...

अमन – काव्य संग्रह,जब भी बात हो अमन की, उनको शायद पसन्द नहीं।

जब भी बात हो अमन की, उनको शायद पसन्द नहीं। आतंकवाद का माहौल रहे चाहते वो अमन नहीं। हम कदम बढ़ाते अमन का, और वो आतंकवाद का, देशद्रोही बातों को...

‘जीवन का मूल्य’ – काव्य संग्रह

'जीवन का मूल्य' जीवन का मूल्य उनसे पूछो,जिनको रहने को घर नहीं,खाने को अन्न नहीं,हम तो बहुत सम्पन्न है,...

‘जीवन का मूल्य’ – काव्य संग्रह

'जीवन का मूल्य' जीवन का मूल्य उनसे पूछो,जिनको रहने को घर नहीं,खाने को अन्न नहीं,हम तो बहुत सम्पन्न है,...